‘ अनोखे ~रिश्ते ‘


~आज तो आ गए होंगे न …~पूजा 

हाँ , कल बात हुई तो यही बता रहे थे । की कल तक आ जाएंगे ,क्यों कोई काम है क्या ~चाची जी (ऑन्टी) 

नहीं काम क्या होगा , वो भी उनसे ~पूजा 

तो फिर क्यों पूछ रही ~ऑन्टी

नहीं सोने जा रही हूँ न , सोता हुआ पातें हैं तो बड़ा परेशान करते हैं ~पूजा 

शायद ऐसा ही कुछ रिश्ता था उन दोनों के बीच , साथ होने पर खूब लड़ते थे , न बातों का मेल न विचारों का पर हाँ साथ न होने पर एक अजीब सी बेचैनी रहती थी दोनों को ,और तो और इंतजार भी रहता एक दूसरे का ।ऐसे ही एक दफा पूजा ने पूछ लिया था अक्षत से ~

अच्छा एक बात बताइए,  न आपकी एक बात मैं मानती हूं ,और न आप एक भी बात मेरी मानते हैं फिर क्यों आप हमें इतना पसंद करतें हैं ~पूजा 

जानती है क्यों , क्योंकि जहाँ Contradiction होता है न एक दूसरे को समझने का स्कोप बना रहता है ~अक्षत 

सच में , ऐसा है तो फिर लोग समझने के लिए मार -पीट भी करते होंगे ~पूजा ने तंज भरे लहज़े में बोला 

हमें पता था , आप इतनी जल्दी नहीं मानेंगी 

देखिये मार -पीट करने वालों और हममें बड़ा अंतर है 

वो Contradiction में मार -पीट की संभावना तलाशते हैं और हम Contradiction में समझने की संभावना खोजते है । नीयत में फ़र्क होता है ~अक्षत 

उधर घण्टियों का सिलसिला शुरू हुआ ,यही कोई शाम के पांच बजने को थे पूजा के यहाँ ,देख किसका फोन है ~ऑन्टी ने दूर जोर से आवाज़ लगाते हुए पूजा से बोला 

अरे उन्हीं का होगा और कौन होगा इस टाइम , हैलो ~पूजा

और क्या हाल चाल , फ़ोन के पास ही थी न ~अक्षत

हाँ जैसे हमें तो आकाशवाणी हुई थी कि आपका फ़ोन आने वाला है ~पूजा ने फिर गुस्से से बोला 

ओह्ह हो , फ़ोन उठाते फिर झगड़ा शुरू कुछ तो साँस ले लिया करो ~अक्षत 

आप मौका दे तब न ~पूजा 

अच्छा ये सुब छोड़ , ये बता आ रहा हूँ रूम पे क्या खायेगी ~अक्षत 

जो भी आपका मन करे , बस घास -पूस मत लाना ~पूजा 

एक बार गलती से अक्षत ने आर्टिफिशियल पत्ते गिफ़्ट कर दिया था पूजा को तब उसका ये जुमला दोहराया जाता । 

नहीं महारानी विक्टोरिया हम आपके शान ओ शौकत के माफ़िक ही कुछ लायेंगे ~अक्षत 

ठीक है ….~पूजा 

#yqbaba#yqdidi#अनोखे ~रिश्ते#

Follow my writings on https://www.yourquote.in/safar03raman #yourquote

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s