द कॉफी हॉउस ..।


~
वो खत की संभावनाओं में इतना तल्लीन हो चुका था कि पास आकर खडी़ मीरा का उसे जरा भी एहसास न रहा |
जी हां मीरा की बनी बनाइ योजना थी और उम्मीद के मुताबि़क अक्षत इस जाल में फंस चुका था |

शायद बचपन से यही आदत रही थी मीरा की,  सब कुछ ordinary way में देखना चाहती थी….|
और उसका यही ordinarypan उसको औरों से उसे अलग करता था ,
और तो और अक्षत का confusion  से भरा चेहरा और भी cute लगता था तभी तो इतना सब कुछ किया था उसने।

#yqbaba#yqdidi#yqbhaijaan#द कॉफी हॉउस#

Follow my writings on https://www.yourquote.in/safar03raman #yourquote

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s