इंतज़ार….!


~
बार बार मैसेज स्क्रीन की तरफ उसकी निगाहें जाती , दिल ये मानने को तैयार ही न था कि उसने मैसेज देख जवाब नहीं दियाहोगा ,कभी कभी मेल नोटिफिकेटशन आते तो लगता कि उसी का मैसेज हो गया वार्ना यूँ मिनट मिनट में मोबाइल देखने की उसकी आदत न थी वो भी खासकर एग्जाम के जस्ट पहले वाली रात में ।

अब तक तो अपने नोट्स के revision भी कर चुका था ,शायद उसे तसल्ली थी कि revision खत्म होने तक जवाब तो आयी जाएगा । रात के 12 बजने को थे पर फिर भी नींद थी कि आने का नाम नहीं ले रही थी ।

क्या हुआ कोई बात , सो जाओ सुबह जल्दी उठ जाना अभी कुछ मत पढ़ो ~भइया ने एग्जाम के लिहाज से उसको सलाह दी

हां revision क्या , बस नींद नही आ रही ~अक्षत

आंख बंद कर लो , आना होगा आई जाएगी ~भइया

उसे भी यही सही लगा , जिसको आना होता है आ ही जाता है ज्यादा परेशान नही होना चाहिए ।

अरे तुम सोये नही क्या ,कब उठे ~ भइया

सुबह उठते ही उन्होंने देखा तो अक्षत चाय बना रहा था , सुबह के 5 :30 हो चुके थे ।

हां 5 बजे ही उठ गया था , ~अक्षत

सब कुछ ले लिया न , एडमिट कार्ड वग़ैरा ~भैया ने निकलते वक्त आदतन सवाल किया किया

हां , सब लिया बस ओटो मिल जाये सही वक्त पर ~अक्षत

हां मिल जाएगा , रुट तो पता है ना ~भैया

हां , चलिए फिर चलते हैं ~अक्षत

एग्जाम हाल पहुचने में एक धण्टे लगने को थे , सो उसने किशोर कुमार के गाने प्ले कर लिए ,शायद यही उसकी आदत थी अक्सर एग्जाम से पहले कॉलेज में जब उसको कोई पूछता की कैसी तैयारी है तो वो बस मर्डर फ़िल्म का गाना भीगे होठ तेरे गाने लगता , वो शायद खुद को रिलैक्स मोड में करने के लिए ऐसा करता था , सब उसे थोड़ा अजीब कहते पर इसकी उसको फ़िकर कहाँ ।

आज मर्डर का गाना तो नही पर किशोर कुमार के गाने ही उसको राहत दे रहे थे , अब तक वो भूल चुका था कि उसे किसी के मैसेज का इंतज़ार था ।

Hey Gud morning …..~मीरा

Morning ….~जवाब में उसने उतना ही लिखना मुनासिब समझा , पता नही पर अभी उसे सिर्फ एग्जाम दिख रहा था

एग्जाम हाल में एंट्री से पहले तो काफी मुआयना किया , थोड़ी बहोत हरियाली भी थी पर ,उसे ज्यादा अच्छा वहाँ का इंवेगिलटर था जो कब से उसका टाइम पास किये हुए था । कुल मिलाकर एग्जाम भी ठीक ठाक ही गया पर पता था कि सलेक्शन से अभी भी दूर रह गया । हालांकि अबतक का सबसे अच्छा पर्फोमेंस रहा पर , झूठी दिलाशा नहीं देना चाहता था ।

एग्जाम खत्म कर , जैसे ही सिविल लाइन पहुंचा तो कुछ सूझ नहीं रह था कि क्या करे तभी भइया का फ़ोन आया

कब तक आओगे , हमे निकलना है ~भइया

अभी टाइम लगेगा , आप key बाहर रख दीजियेगा ~ अक्षत

ठीक है फिर , कब निकलना है तुम्हें दिल्ली ~ भइया

रात में प्रयागराज है , मैं रूम से 7 बजे निकल जाऊंगा ~ अक्षत

ठीक है निकलते वक्त key यादव जी को दे देना ~भैया

ठीक है ~अक्षत

Kahan ho …Tum ~अक्षत ने मीरा को मैसेज कर पूछा , पर अभो भी ज़िक्र नही किया कि वो इलाहाबाद में है वो अपनी मुलाकात को शायद कैसुअल बनाना चाहता था ।

पिछले 3 घंटे से अक्षत सिविल लाइन के उस कैफ़े में बैठ बस दिल को यही तसल्ली दिए जा रहा था , क्या पता आफिस में हो सो टाइम न मिला हो शाम होते ही मैसेज करे ।
शाम को यही कोई 4 बजने को थे पर अबतक कोई मसेज न आया तो उसने तय किया कि वो उसे अपनी बात कह दे और बाकी उसकी मर्जी ।

Koi nahi ..Abhi allahabad me tha exam dene aaya tha to socha mil lun ,so massege kiya ~अक्षत ने मीरा को साफ साफ लहज़े में कह दिया जो कुछ कहना था ।

पर ताज़्जुब तो देखिए , अब भी उसका कोई मसेज नही , शायद इसकी उम्मीद उसे न थी ,
उसे लगा मैसेज का रिप्लाई तो कर ही देना चाहिए था । अब उसका पेसेंस जवाब दे रहा था , पर दिल अभी भी ये सोच रहा था कि उसे क्या पता कि तुम क्या सोच के मिलने आये हो, सो उसने हमेशा की तरह कैसुअल ही लिया हो ।
पर कितना भी कैसुअल क्यों न हो कोई एक मैसेज तो कर ही सकता है । पर जरूरी तो नहीं न।

ये सारे आर्गुमेंट वो खुद से किये जा रहा था , अब तक तीन ब्लैक टी पी चुका था , शायद वो खुद को तसल्ली दे रहा था कि ठीक है मोहब्बत में हर बार सिर्फ खुद की शर्तों पर चलना नहीं होता बल्कि दुसरो की शर्तों को समझना भी होता है ,और फिर ये तो उसकी चॉइस थी की वो इस रिश्ते में बग़ैर किसी ख़्वाहिश के आया था ,तो अब इतनी उम्मीदें क्यों लगा रहा है ।

पर था तो इंसान ही न , सो मुश्किल था अपने ही बनाये उसूलों पर चलना । फिर लगा कि कोई नहीं किशोर कुमार के गाने और उसकी बचपन की यादें काफी हैं अपनी मोह्हबत को ज़िंदा रखने के लिए । और इस ख़याल ने उसे फिर से ज़िन्दा कर दिया । और वो कैफे से उठ अल्लाहपुर रूम की तरफ चल दिया , अब शायद उसे कोई शिकायत नही थी ,न खुद से न मीरा से ।

हालांकि की मीरा का मैसेज अब तक नही आया था ।

#yqbaba#yqdidi#yqbhaijaan#yqtale# इंतज़ार #

Follow my writings on https://www.yourquote.in/safar03raman #yourquote

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s